DDT News
जालोरनई दिल्लीबजट 2023

Budget 2023 : जानिए पीएम विश्वकर्मा सम्मान स्कीम के तहत कैसे विश्वकर्मा करेंगे देश का नवनिर्माण?

जालोर. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संसद में देश का बजट पेश करते हुए एक बड़ी योजना के बारे में घोषणा की है. इस योजना का नाम है- PM VIKS यानी प्रधानमंत्री विश्वकर्मा कौशल सम्मान . इस योजना का लाभ देश की बड़ी आबादी को मिलेगा, जो विश्वकर्मा समुदाय से ताल्लुक रखते हैं. रिपोर्ट के अनुसार, विश्वकर्मा समुदाय के अंतर्गत देश के 140 से ज्यादा जातियां आती हैं. यह देश की एक बड़ी आबादी को कवर करती है. आइए जानते हैं, क्या है यह योजना और इसके तहत विश्वकर्मा समुदाय के लोगों को किस तरह फायदे होंगे.

विज्ञापन

क्या है PM VIKS योजना?

PM VIKS योजना विश्वकर्मा समुदाय के अलग अलग ट्रेडिशनल और स्किल प्रोफेशनल के सशक्तीकरण की योजना है. उन्हें हुनर, तकनीक सीखने से लेकर आर्थिक मदद दी जाएगी. यह योजना देश की एक बहुत बड़ी आबादी को फायदा पहुंचाएगी. पीएम विश्वकर्मा कौशल सम्मान के तहत केंद्रीय बजट में परंपरागत कारीगरों और शिल्पकारों के लिए आर्थिक सहायता पैकेज घोषित किया गया है. इसका उद्देश्य उन्हें एमएसएमई मूल्य श्रृंखला के साथ जोड़ना है, ताकि वो अपने उत्पादों की गुणवत्ता, पैमाने और पहुंच में सुधार करने में सक्षम बन सकें.

Advertisement

योजना को लेकर वित्त मंत्री ने क्या कहा?

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने लोकसभा में 2023 का आम बजट (Budget 2023) पेश करने के दौरान इस योजना के बारे में बताया. उन्होंने कहा कि पीएम विश्वकर्मा कौशल विकास योजना में हस्तशिल्पियों को केवल धन ही नहीं बल्कि नई तकनीकें भी उपलब्ध कराई जाएंगी.

निर्मला सीतारमण ने कहा कि हाथ से उत्पाद तैयार करने वाले कारीगरों को बैंक प्रमोशन के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बैंकों से भी जोड़ा जाएगा. उन्होंने कहा कि इससे देश भर में परंपरागत शिल्प के काम में लगे कमजोर समूहों को फायदा होगा.

Advertisement

इन जातियों के लोगों को मिलेगा फायदा

देश के विश्वकर्मा करेंगे नवनिर्माण

बजट में ऐलान होने के बाद से इस योजना को बड़ी उम्मीद के रूप में देखा जा रहा है. कारीगर किसी भी क्षेत्र में हों, उनका हुनरमंद होना जरूरी है. कई बार उन्हें प्रॉपर ट्रेंनिंग नहीं मिल पाती और जो कुशल हैं, उनके पास पर्याप्त पूंजी नहीं होती. ऐसे में वो न खुद का घर चला पाते हैं और न ही समाज की प्रगति में हिस्सा बन पाते हैं. पीएम विश्वकर्मा सम्मान स्कीम के तहत उन्हें जरूरी ट्रेनिंग भी दी जाएगी और जिनके पास पूंजी की कमी है, उन्हें पूंजी भी उपलब्ध कराया जाएगा. प्रशिक्षण और पूंजी की मदद के बाद विश्वकर्मा समुदाय के लोगों की आर्थिक स्थिति सुदृढ़ होगी और वो देश-समाज की प्रगति में भी अपनी भागीदारी निभा पाएंगे.

Advertisement

वित्त मंत्री सीतारमण ने इस योजना की घोषणा से पहले बजट पेश करते हुए कहा कि अमृत काल में यह पहला बजट है. यह सबसे अच्छा बजट साबित होगा, जो गरीब समर्थक, मध्यम वर्ग समर्थक होगा. वित्त मंत्री ने कहा कि इस साल के लिए देश की इकॉनमी की ग्रोथ रेट 7 फीसदी रहने का अनुमान है. यह विश्व की बड़ी अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक है. उन्होंने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था सही रास्ते पर है और उज्ज्वल भविष्य की ओर बढ़ रही है.

Advertisement

Related posts

बागरा : वार्षिकोत्सव में छात्रों ने प्रस्तुत किए रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम

ddtnews

जिला स्तरीय प्रजापत प्रतिभा सम्मान समारोह के आवेदन की अंतिम तिथि 25 नवम्बर

ddtnews

एपेक्स हॉस्पिटल एण्ड ऑर्थोपेडिक सेन्टर जालौर की चिकित्सकीय टीम द्वारा एक ही दिन में दो मरीजों के कुल्हा प्रत्यारोपण का किया ऑपरेशन

ddtnews

जिला प्रमुख पद की भरपाई करने में रतन देवासी का बड़ा शॉट, मोडाराम भील को पीसीसी में करवाया शामिल

ddtnews

कोटपा एक्ट : एक दिन में जालोर जिले में काटे 8 हजार चालान

ddtnews

Leave a Comment