DDT News
राजनीति

बुरे फसे बृजभूषण सिंह, सरकार ने यौन शोषण के आरोपों की जांच के लिए समिति बनाने की घोषणा की

पहलवानों के यौन शोषण के आरोप झेल रहे बीजेपी सांसद बृजभूषण सिंह अब खुद के हु जाल में फंस गए हैं। केंद्र सरकार ने यौन शोषण के आरोपों की जांच के लिए पूर्व बॉक्सर मैरी कॉम की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय समिति के गठन की घोषणा की है। पांच सदस्यीय समिति में ओलंपियन पहलवान योगेश्वर दत्त, द्रोणाचार्य पुरस्कार विजेता तृप्ति मुरुगंडे, कप्तान गोपालन, राधा श्रीमान शामिल हैं। मैरी कॉम की अध्यक्षता वाली एक निगरानी समिति को कुश्ती महासंघ के मामलों को संभालने की जिम्मेदारी भी सौंपी गई है।

निरीक्षण समिति बृजभूषण पर लगे आरोपों की जांच करेगी और रिपोर्ट सौंपेगी

Advertisement

खेल मंत्रालय द्वारा गठित एक निरीक्षण समिति कुश्ती महासंघ के मामलों को अपने हाथ में लेगी और पूर्व अध्यक्ष और भाजपा सांसद बृजभूषण सिंह के खिलाफ यौन शोषण के आरोपों की जांच के बाद सरकार को रिपोर्ट देगी।

बृजभूषण पर लगे आरोपों की जांच के लिए निरीक्षण समिति का ऐलान

Advertisement

खेल मंत्रालय ने भारतीय कुश्ती महासंघ (डब्ल्यूएफआई) के अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह के खिलाफ यौन उत्पीड़न और भ्रष्टाचार के आरोपों की जांच के लिए एक निरीक्षण समिति की घोषणा की। पहलवानों के आरोपों के बाद अध्यक्ष बृजभूषण शरण सिंह को कुश्ती संघ के कामकाज की निगरानी से प्रतिबंधित कर दिया गया है।

मैरी कॉम की अध्यक्षता वाली समिति कुश्ती महासंघ का कामकाज देखेगी

Advertisement

केंद्र सरकार ने कहा कि निरीक्षण समिति के औपचारिक रूप से नियुक्त होने तक कुश्ती महासंघ की सभी गतिविधियों को निलंबित कर दिया गया है। हालांकि अब मैरी कॉम की अध्यक्षता वाली एक समिति कुश्ती महासंघ का कामकाज देखेगी। सरकार से पूर्व में आश्वासन मिलने के बाद खिलाड़ियों ने शुक्रवार देर रात अपना धरना समाप्त कर दिया।

क्या है पूरा मामला 

Advertisement

विनेश फोगट, बजरंग पुनिया, साक्षी मलिक, रवि दहिया, अंशु मलिक, संगीता फोगट और सोनम मलिक सहित 30 पहलवानों ने बुधवार को दिल्ली के जंतर मंतर पर डब्ल्यूएफआई प्रमुख ब्रजभूषण सिंह के सामने धरना शुरू किया। विनेश फोगट ने आरोप लगाया कि ब्रजभूषण ने महिला पहलवानों का यौन शोषण किया है। पहलवानों ने ब्रजभूषण सिंह पर यौन उत्पीड़न और भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए उन्हें बर्खास्त करने की मांग की।

Advertisement

Related posts

जालोर में मतगणना की समस्त व्यवस्थाएँ पूर्ण, सुरक्षा व्यवस्थाएँ चाक-चौबन्द

ddtnews

म्यूटेशन नहीं भरने पर शिवसेना ने किया धरना प्रदर्शन

ddtnews

भीनमाल में शेखावत बोले- मुख्यमंत्री गहलोत सार्वजनिक माफी मांग ले, अन्यथा उनकी भी उनके लीडर जैसी गति होगी

ddtnews

हिडनबर्ग रिपोर्ट की जेपीसी से जांच कराएं मोदी सरकार – पाराशर

ddtnews

गर्ग ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर कहा- प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना में कम्पनी के एकाधिकार को खत्म कर सरलीकरण की है आवश्यकता

ddtnews

भीनमाल में मोदी बोले- राज्य में पांच साल कांग्रेस सरकार नहीं होती तो राजस्थान के हर घर तक पानी पहुंच जाता

ddtnews

Leave a Comment