DDT News
देश

केंद्र सरकार को 2 करोड़ कोविशील्ड डोज मुफ्त मुहैया कराएगा सीरम इंस्टीट्यूट

स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अगर कोरोना की कोई नई लहर आती भी है, तो मृत्यु और अस्पताल में भर्ती होने की दर बहुत कम होगी.

 

कुछ देशों में कोविड-19 के बढ़ते मामलों के बीच सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने केंद्र सरकार को कोविशिल्ड वैक्सीन की दो करोड़ खुराक मुफ्त देने की पेशकश की है. आधिकारिक सूत्रों ने आज यह जानकारी दी. प्रेस ट्रस्ट ऑफ इंडिया ने बताया कि एक आधिकारिक सूत्र के अनुसार, सीरम इंस्टीट्यूट में सरकार और नियामक मामलों के निदेशक प्रकाश कुमार सिंह ने स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर ₹ 410 करोड़ की मुफ्त खुराक देने की पेशकश की है.
पता चला है कि सिंह ने मंत्रालय से जानना चाहा है कि डिलीवरी कैसे की जा सकती है. सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (SII) ने अब तक राष्ट्रीय टीकाकरण कार्यक्रम के लिए सरकार को कोविशील्ड की 170 करोड़ से अधिक खुराक प्रदान की है. चीन और दक्षिण कोरिया सहित कुछ देशों में कोविड-19 मामलों में तेजी के बीच सरकार ने अलर्ट जारी किया है और राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को किसी भी स्थिति के लिए तैयार रहने को कहा है.
भारत ने कोविड पॉज़िटिव नमूनों की निगरानी और जीनोम सीक्वेंसिंग बढ़ा दी है. केवल 27 प्रतिशत पात्र वयस्क आबादी ने एहतियाती खुराक (बूस्टर डोज) ली है. सरकारी अधिकारियों ने इसे लेने के लिए लोगों से अपील की है. आधिकारिक सूत्रों ने बुधवार को आगाह किया कि अगले 40 दिन महत्वपूर्ण होंगे, क्योंकि भारत में जनवरी में कोविड में उछाल देखा जा सकता है. स्वास्थ्य मंत्रालय के सूत्रों ने कहा कि अगर कोई लहर आती भी है, तो मृत्यु और अस्पताल में भर्ती होने की दर बहुत कम होगी.
सरकार ने शनिवार से प्रत्येक अंतरराष्ट्रीय उड़ान में आने वाले दो प्रतिशत यात्रियों के लिए कोरोना वायरस परीक्षण अनिवार्य कर दिया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मंडाविया ने मामलों में नए उछाल से निपटने के लिए देश की तैयारियों का आकलन करने के लिए बैठकें की हैं. COVID-19 संक्रमण में किसी भी तेजी से निपटने के लिए ऑपरेशनल तौयारी की जांच करने के लिए मंगलवार को पूरे भारत में स्वास्थ्य सुविधाओं पर मॉक ड्रिल आयोजित की गई.
Advertisement

Related posts

लैंगिक भेदभाव से मुक्त नहीं हुआ ग्रामीण समाज

ddtnews

बिहार में शराबबंदी को लेकर बीजेपी नेताओं ने की सीएम नीतीश कुमार की जमकर तारीफ

Admin

जाति भेदभाव : हम शिक्षित हुए हैं, जागरूक नहीं

ddtnews

कहीं डिप्रेशन की शिकार तो नहीं हैं किशोरियां?

ddtnews

गांव का हाल अब देखा नहीं जाता

ddtnews

विकास के लिए पक्की सड़कों का वरदान

ddtnews

Leave a Comment