DDT News
जालोरराजनीति

आपातकाल भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में काला अध्याय – जोगेश्वर गर्ग

  • मुख्य सचेतक ने किया लोकतंत्र सेनानियों का किया सम्मान

जालोर । राजस्थान विधानसभा के मुख्य सचेतक जोगेश्वर गर्ग ने कहा कि भारतीय लोकतंत्र के इतिहास में आपातकाल एक काले अध्याय के रूप में जाना जाता है। 25 जून, 1975 को तत्कालीन सरकार ने देश में आपातकाल लगाकर लोकतंत्र का दम घोट दिया था। ये आपातकाल 21 माह तक चला और भारतीय लोकतंत्र पर कभी न मिटने वाला धब्बा छोड़कर चला गया।

मुख्य सचेतक जोगेश्वर गर्ग ने शनिवार को जिला मुख्यालय पर आयोजित लोकतंत्र सेनानी अभिनंदन समारोह में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि भारतीय लोकतंत्र के उस कठिन दौर में लोकतंत्र सेनानियों ने अपने अदम्य साहस और संघर्ष के साथ लोकतंत्र की ज्योति को प्रज्वलित रखा। इन महान विभूतियों ने निरंकुश सत्ता के विरूद्ध संघर्ष किया, जेल की यातनाएं सही, प्रताड़नाओं का सामना किया, मगर अपना सिर नहीं झुकाया।

Advertisement

उन्होंने कहा कि आपातकाल के दौरान नागरिकों के मौलिक अधिकार निलंबित कर दिए गए। प्रेस पर सेंसरशिप लागू की गई, राजनीतिक विरोधियों को बिना मुकदमे के जेल में डाल दिया गया और विरोध प्रदर्शनों को भी बल पूर्वक दबाया गया। लाठी चार्ज, गिरफ्तारियां और यातनाएं देने जैसे काम किए गए। मगर लोकतंत्र के रखवालों ने अपने संघर्ष को जारी रखा।

कार्यक्रम में वरिष्ठ एडवोकेट हरिशंकर राजपुरोहित ने कहा कि लोकतंत्र सैनानियों का साहस और बलिदान देश के इतिहास में हमेंशा स्वर्ण अक्षरों में लिखा जाएगा। लोकतंत्र सैनानी मधुसूदन व्यास ने अपने आपाताकल के दौर का संस्मरण सुनाते हुए कहा कि आपातकाल के दौरान लोकतंत्र को बचाने के लिए किये गये प्रयासों को कभी नहीं भूलाया जा सकेगा। लोकतंत्र के प्रति उनका समर्पण और त्याग आने वाली पीढ़ियों को हमेशा प्रेरणा देता रहेगा।

Advertisement

कार्यक्रम में ऋषिकुमार दवे, पुरुषोत्तम पोमल, ललित कुमार दवे, नारायण भट्ट, बीएल सुथार, गेनाराम, बंशीसिंह चौहान सहित कई वक्ताओं ने विचार व्यक्त किए।

इन लोकतंत्र सेनानियों का हुआ सम्मान

अभिनंदन समारोह में लोकतंत्र सैनानी वाधूमल के परिवारजन, एडवोकेट हरिशंकर राजपुरोहित, बंशीसिंह चौहान, गेनाराम, भगाराम सुथार, वागाराम सिवाड़ा, श्रीमती मिश्री बाई धर्मपत्नी चंपालाल, सूरज प्रकाश व्यास, एडवोकेट मधुसूदन व्यास, जोगेश्वर गर्ग, बाबूदास वैष्णव, कुंदनराम मेघवाल, श्रीमती चंपा देवी पत्नी लक्ष्मी नारायण अग्रवाल, श्रीमती कांता देवी पत्नी पुखराज प्रजापत, श्रीमती मोहन देवी पत्नी विरमाराम मेघवाल व श्रीमती उर्मिला देवी पत्नी ठाकुर प्रसाद बाहेती का सम्मान किया गया।

Advertisement

इस दौरान रविंद्रसिंह बालावत, रंजू बहन, मदनराज बोहरा, धनराज दवे, लक्ष्मण सुंदेशा, मोहनलाल छीपा, परमानद भट्ट, मोहनलाल सिंधी, शिव कुमार, सांवलाराम गहलोत, मुकेश सोलंकी, कानाराम, प्रेम परमार, अचलेश्वर आनंद, अशोक दवे, जयकरण भटनागर, अम्बालाल और नाथू सोलंकी आदि उपस्थित रहे।

Advertisement

Related posts

राजस्थान जिला प्रमुख संघ का गठन, नागौर जिला प्रमुख भागीरथराम बने प्रदेश अध्यक्ष व जालोर जिला प्रमुख बने सचिव

ddtnews

पुरोहित वेलफेयर ट्रस्ट का अनुकरणीय कार्य, विधवाओं व गरीबों को पेंशन के साथ-साथ पढ़ाई के लिए बिना ब्याज का लोन भी

ddtnews

कलेक्ट्रेट सभागार में जिला कलक्टर निशान्त जैन ने बालिकाओं को बताएं सफलता के टिप्स

ddtnews

भाद्राजून में 22 से 31 दिसम्बर तक होगा अंतरंग क्षार सूत्र शल्य चिकित्सा शिविर

ddtnews

सुराणा व चौराऊ केंद्रों की स्कूलों के दसवीं के परिणाम बेहद चिंताजनक, बड़ी संख्या में विद्यार्थी हुए फेल

ddtnews

जिला कलक्टर ने मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य केन्द्र व ट्रोमा सेन्टर का औचक निरीक्षण कर व्यवस्थाओं का लिया जायजा

ddtnews

Leave a Comment