DDT News
जालोरहेल्थ

रोटरी क्लब के सात दिवसीय शिविर में एक ब्लड सेम्पल से कई बीमारियों का लगा रहे पता, असहाय का घर बैठे लेंगे नमूना

जालोर. रोटरी क्लब जालोर और श्रीनाथ हॉस्पिटल के संयुक्त तत्वावधान में जीडी प्रिवेंटिव लैब के विशेष सहयोग से आयोजित सात दिवसीय सम्पूर्ण शारीरिक स्वास्थ्य जांच शिविर की शुरुआत रविवार को की गई। शिविर के अन्तर्गत मात्र एक ब्लड सैंपल से पूरे शरीर की सामान्य एवं विशेष जांचे की जा रही है। इस साल सात दिनों हेतु जनसमूह की माँग पर फिर से आयोजित हो रहे शिविर में खासी भीड़ उमड़ने लगी है। शिविर में जांचों के लाभ हेतु इन सात दिवसीय शिविर में से किसी भी दिन इच्छुक व्यक्ति को भूखे पेट पहुंचना है, जहां मुंबई की विश्वस्तरीय जीडी प्रिवेंटिव लैब द्वारा पूरे शरीर की करीब 70 जांचों हेतु मात्र एक ब्लड का सैंपल लिया जाएगा, ब्लड सैंपल वायुयान से मुंबई स्थित लैब पहुंचाया जाएगा, जहां अतिआधुनिक मशीनों पूरे शरीर की कई सामान्य व विशेष जांचे करके अगले दिन रिपोर्ट हेल्थ एक्सपर्ट के परामर्श के साथ प्रदान की जाएगी।

जांचों में मुख्य रूप से विटामिन बी 12, विटामिन डी 3, खून की कमी, शुगर की त्रैमासिक जांच, लिवर की जांच, किडनी की जांच , थायराइड की जांच , हार्ट की जांच, प्रोस्टेट की जांच व केंसर आदि सहित कई जांचे सम्मिलित है। वहीं शिविर स्थल तक पहुंचने में असमर्थ नागरिकों हेतु घर से सैंपल लेने की भी सुविधा भी संस्था ने रखी है। शिविर के प्रचार प्रसार, तैयारियों आदि हेतु रोटरी क्लब जालोर से अध्यक्ष डॉ.पवन ओझा, सचिव संजय कुमार, डिस्ट्रिक्ट सेक्रेटरी कानाराम परमार, डिस्ट्रिक्ट कोषाध्यक्ष नंदकिशोर जैथलीया, सहायक प्रांतपाल तरुण सिद्धावत, प्रोजेक्ट चेयर डॉ.किरण प्रजापति, जीडी लैब से हेल्थ एक्सपर्ट रमेश प्रजापत के साथ संकल्पित होकर कार्य देख रहे हैं।शिविर में सुबह सात से ग्यारह बजे तक जांच के लिए सैंपल लिए जाएंगे। उन्होंने बताया कि शिविर में एक विशेष पैकेज के तहत पूरे शरीर की जाँच रियायत दर में की जा रही है।

Advertisement

रोटरी संस्था के अध्यक्ष डॉ.पवन ओझा ने बताया कि ‘हमारा स्वास्थ्य हमारा सबसे बड़ा खजाना है”आज की शहरी जीवनशैली कई स्वास्थ्य समस्याओं का कारण बनती है।जीवन में अप्रत्याशित उथल-पुथल से बचने के लिए, नियमित रूप से स्वास्थ्य जांच करवाना हमेशा उचित होता है। हमारे चिकित्सा शिविर और स्वास्थ्य जांच कार्यक्रम का उद्देश्य स्वास्थ्य को बढ़ावा देना और स्वास्थ्य समस्याओं की शुरुआती पहचान को आसान बनाना है। हमारा उद्देश्य लोगों को लंबे, बेहतर और खुशहाल जीवन की दिशा में कदम उठाने के लिए प्रेरित करना और जागरूकता फैलाना है। जिस तरह से पर्यावरण और वातावरण प्रदूषित होते जा रहे हैं, लोगों में बीमारियों का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। इनसे बचने के लिए सभी लोगों को हर छह महीने में अपने शरीर की सभी जांचें करानी चाहिए।वरिष्ठ रोटेरियन कानाराम परमार और नंदकिशोर जैथलिया ने बताया कि अपने स्वास्थ्य का ख्याल रखना हर किसी के लिए सबसे ज़रूरी है। छोटी उम्र से ही नियमित स्वास्थ्य जांच करवाने से वास्तव में कई लोगों की जान बच सकती है।

शिविर में प्रोजेक्ट चेयर फैमिली फिजिशियन डॉ.किरण प्रजापति द्वारा निःशुल्क परामर्श दिया गया।उन्होंने बताया कि जो लोग स्वास्थ्य जांच के लिए आए थे।उनमें से कई को पहली बार प्री-डायबिटिक पाया गया था। उनमें से कई का बीएमआई बहुत अधिक है और गतिहीन जीवन शैली के कारण उनके कोलेस्ट्रॉल और ट्राइग्लिसराइड का स्तर बहुत अधिक है। उक्त शिविर में पाई जाने वाली आम बीमारियाँ गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल डिसऑर्डर, मोटापा, मधुमेह, उच्च रक्तचाप और ऑस्टियोपोरोसिस हैं।शिविर के दौरान गतिहीन जीवन शैली से संबंधित कई विकारों को रोकने के लिए विभिन्न दवाएँ और परामर्श और जीवनशैली में बदलाव और संतुलित आहार की सलाह दी गयी। शिविर के दौरान कई संख्या में आमजन मरीज़ और संस्था सदस्य एवं स्टाफ मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

कार्यकर्ताओं के बेहतर कार्य से ही संगठन मजबूत होता है – राव

ddtnews

लूट के प्रकरण में 2 आरोपियों को किया गिरफ्तार

ddtnews

राजस्थान मिशन-2030 के तहत पेयजल व जल संसाधन से संबंधित हितधारकों ने दिए सुझाव

ddtnews

आमंत्रण पत्रिका देकर दिया न्योता

ddtnews

धर्मसंकट में किसान : समिति ने खरीदे मूंग में से वेयर हाउस ने 300 क्विंटल रिजेक्ट कर लौटा दिया

ddtnews

कौन है वो भोपाजी! जिसने बता दिया था कि मंदिर के पास मिलेगा बालक भगवतसिंह, लेकिन जीवन में अंधेरा छा गया !

ddtnews

Leave a Comment