DDT News
जालोरसामाजिक गतिविधि

ब्रह्माकुमारीज की प्रथम मुख्य प्रशासिका मम्मा की 59वीं पुण्यतिथि पर श्रद्धासुमन अर्पित किए

जालोर. राजयोग केंद्र शिवाजी नगर जालोर में मातेश्वरी जगतम्बा के 59वीं पुण्यतिथि के उपलक्ष में रविवार को श्रद्धा सुमन अर्पित कार्यक्रम हुआ।

बीके रंजू दीदी प्रबंधन संचालिका प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय जालौर ने बताया कि श्रद्धांजलि कार्यक्रम दिल्ली से आए भ्राता विशाल अरोड़ा, जोधपुर से पधारे भ्राता डूंगर के आतिथ्य में आयोजित हुआ | बीके रंजू ने मातेश्वरी जगतम्बा के जीवन परिचय पर प्रकाश डालते हुए कहा कि मम्मा का लौकिक नाम राधे था, इनका जन्म 1919 में अमृतसर पंजाब में हुआ तथा बचपन में मम्मा विलक्षण बुद्धि की धनी थी । मात्र 17 वर्ष की आयु में ही आध्यात्मिक ज्ञान में प्रवेश किया । मम्मा संगीत, डांस,सितार वादन कला में नीपूण थी। मम्मा का एक हृदय वाक्य यह था ” हर घड़ी अंतिम घड़ी ” इसको मन में रखकर कर्म और पुरुषार्थ करो। मम्मा यज्ञ में पहले दिन ही समर्पित हो गई तथा ब्रह्मा बाबा के समक्ष हांजी का पाठ निभाया। मम्मा द्वारा कई नए राजयोग केंद्रो का विस्तार किया गया। इस ज्ञान यज्ञ में मम्मा को जगदंबा का टाइटल दिया गया क्योंकि इनके द्वारा ही उस समय सभी को पालना की गई । मम्मा को नौ देवियों का स्वरूपा सरस्वती ज्ञान बुद्धि की देवी ,जगदंबा संपन्नता की , दुर्गा शक्तियों की , काली निर्भयता की देवी, गायत्री शुभलक्षणो की देवी, संतोषी संतुष्टता की , उमा उमंग उत्साह की देवी, वैष्णवी पवित्रता की देवी , लक्ष्मी ज्ञान धन की देवी के रूप में यज्ञ में पहचान मिली । मम्मा 24 जून 1965 में अव्यक्त हुई । मम्मा यज्ञ में प्रथम मुख्य प्रशासिका पद में वर्ष 1950 में नियुक्त की गई । मम्मा बहुत ही गुणवान व सरल चित्त की थी । इस कार्यक्रम में सभी ने पुष्पांजलि अर्पित कर मम्मा को श्रद्धांजलि अर्पित की ।

Advertisement

कार्यक्रम में बीके लक्ष्मी नारायण अग्रवाल, इंजीनियर बीएल सुथार, बीके भंवर भाई, वालाराम , चाँदराई से वर्धाराम, धर्माराम , डॉक्टर संजय चौधरी , राकेश , इंजीनियर , रिटायर्ड डीईट मन्साराम,बीके ललित, बीके अश्विन, बीके विकास, एडवोकेट दिनेश सुथार, नरिंगा राम, खेताराम सांथु एवं मातृशक्ति इंदिरा, रेखा, संतोष, भावना, किरण मंजु,सागर,बादामी, लता, बी के शिल्पा,पादरू से बीके एकता बहन, बीके शिवानी बहन, बीके ज्योति, गीता,मेथी , उर्मिला ,बदामी, मिश्री, दीपा बेन, आशा माता सहित अनेक बन्धु उपस्थित रहे।

Advertisement

Related posts

कांग्रेसजनों ने बाबा साहेब को याद किया

ddtnews

आखिर पांच दिन का क्यों होता है दीपावली पर्व

ddtnews

jalore : गांवों में आज भी जारी है श्मशानों का विवाद, बर्षों से निवासरत लोगों को बाहरी मानकर नहीं होने देते है दाह संस्कार

ddtnews

महिला श्रमिकों की दर्द भरी दास्तां ✍️ वंदना कुमारी

ddtnews

सीईओ ने किया जिला अस्पताल का निरीक्षण, व्यवस्थाओं में कौताही न बरतने के निर्देश

ddtnews

अहमदाबाद रिंग रोड पर राजस्थानियों को परेशान न करें पुलिस – जालोर सांसद पटेल

ddtnews

Leave a Comment