DDT News
जालोर

जरूरतमंद विद्यार्थियों को रूमादेवी सुगणीदेवी अक्षरा छात्रवृति में मिलेंगे 20 लाख रुपए

  • आवेदन 15 मई से प्रारंभ, लड़कियों को मिलेगा विशेष लाभ
  • चयनित होने वाले विद्यार्थी को मिलेंगे 25 से 75 हजार प्रतिवर्ष

जालोर/बाड़मेर. सामाजिक कार्यकर्ता डॉ रूमादेवी द्वारा पश्चिमी राजस्थान के बाड़मेर व बालोतरा क्षेत्र के जरूरतमंद एवं ग्रामीण इलाके के हुनरमंद विद्यार्थियों को दी जाने वाली सालाना “रूमादेवी-सुगणी देवी अक्षरा” छात्रवृत्ति के आवेदन 15 मई से प्रारंभ हो रहे हैं।

रूमादेवी ने बताया कि जो हुनरमंद प्रतिभाएं आर्थिक रूप से कमजोर होने के कारण आगे नहीं बढ़ पाती, उनकी शिक्षा में कोई रुकावट न आए जिसके लिए फाउंडेशन द्वारा “रूमादेवी-सुगणी देवी अक्षरा” छात्रवृति प्रदान की जाती है। जिसमें चयनित अभ्यर्थियों को कुल 20 लाख रूपये की राशि का सहयोग दिया जा रहा है।

Advertisement

‘रूमादेवी-सुगणी देवी अक्षरा’ छात्रवृति योजना के समन्वयक हरि गढवाल ने बताया कि जिले में बालिका शिक्षा को बढावा देने के लिए विशेष प्रावधान के तहत 60 प्रतिशत सीटें बालिकाओं के लिए सुरक्षित रखी जाती है। साथ ही योजना में मेडिकल व तकनिकी श्रेणी के अलावा आवेदन के लिए प्राप्तांकों के प्रतिशत की कोई बाध्यता नहीं है।

तीन श्रेणियों में प्रदत होगी अक्षरा छात्रवृत्ति- उन्होंने आगे बताया कि इस योजना में अभ्यर्थियों के खेल व कला के क्षेत्र में हुनर को अथवा विपरीत हालात के बावजूद आगे पढ़ाई जारी रखने वाले विद्यार्थियों को 25-25 हजार का सहयोग प्रदान किया जायेगा।

Advertisement

दसवीं के बाद से कॉलेज तक के विद्यार्थी जिनको आर्थिक तंगी के कारण आगे पढ़ाई जारी रखने में परेशानी आ रही हो, खेल के क्षेत्र में पैसों के अभाव में स्पोर्टस सामग्री सबंधित जरूरतें पूरी नहीं हो पा रही हो तथा लोक कला के क्षेत्र में लोक गायन,परम्परागत वाणी गायन , हरजस , हस्तशिल्प से जुङी जरूरतमंद प्रतिभाएं आवेदन कर सकती हैं। 12 वीं के बाद मेडिकल और इंजीनियरिंग कॉलेज में प्रवेश पाने वाले जरूरतमंद विद्यार्थी भी अक्षरा छात्रवृति के लिए आवेदन कर सकते है, जिन्हें 75 हजार रूपये छात्रवृति के रूप में प्रदान किये जायेंगे ।

छात्रवृति प्राप्त विद्यार्थी विभिन्न क्षेत्रों में हो रहे सफल

ग्रामीण विकास एवं चेतना संस्थान के सचिव विक्रमसिह ने बताया कि पढ़ाई छूटने की कगार पर आये तथा विपरीत आर्थिक हालात से जूझ रहे अक्षरा छात्रवृति पाने वाले चार विद्यार्थी वर्तमान में सरकारी अध्यापक के रूप में कार्य कर रहे है और एक छात्र का चयन पुलिस विभाग में हो चुका है। अन्य कई छात्र आरएएस, संघ लोक सेवा आयोग, सरकारी शिक्षक, पुलिस विभाग आदि प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी कर रहे है, जिनमें से एक छात्र का चयन आरएएस प्री परीक्षा में हो चुका है। खेल में छात्रवृति पाने वाले खिलाड़ी नेशनल लेवल पर खेल कर अवार्ड पाने में सफल रहे है।

Advertisement
ऑनलाइन होंगे आवेदन

संस्थान प्रवक्ता कविता कुमारी ने बताया कि संस्थान व फाउंडेशन का पूरा प्रयास रहेगा कि ऐसी प्रतिभाओं को लाभ पहुंचे जिन्हे वास्तविक रूप से आर्थिक सहयोग की जरूरत हो। बाङमेर व बालोतरा जिले के ग्रामीण क्षेत्रों के अभ्यर्थी इस “रूमा देवी-सुगणी देवी अक्षरा” छात्रवृत्ति में भाग लेने के लिए rumadevifoundation.org पर जाकर वहां दिए गए गूगल फार्म से अपना आवेदन कर सकेंगे तथा छात्रवृति से सम्बंधित नियम भी जान सकेंगे।

Advertisement

Related posts

स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया से मिले सांसद पटेल, जालोर में मेडिकल कॉलेज की स्थापना की मांग

ddtnews

विधायक जोगेश्वर गर्ग का साफा एवं मालाएं पहनाकर अभिनंदन किया, गर्ग ने भी जालोर का विकास करवाने का भरोसा दिलाया

ddtnews

बादनवाड़ी में कांग्रेस पदाधिकारियों ने योजनाओं की दी जानकारी

ddtnews

कुमार विश्वास ने सियासी काव्यों का बरसाया रस, गहलोत की तारीफें की, मोदी-केजरीवाल पर चलाए तरकश

ddtnews

मूडी के भगवत पुरोहित की मौत के मामले की जांच को लेकर दिया धरना

ddtnews

आर्थिक कठिनाइयों का सामना करती विधवाएं

ddtnews

Leave a Comment