DDT News
जालोरशिक्षा

अंतरराष्ट्रीय नर्सेज सप्ताह के तहत प्रशिक्षणार्थियों को सीपीआर की जानकारी दी

जालोर. राजकीय नर्सिंग महाविद्यालय जालोर में अंतर्राष्ट्रीय नर्सेज सप्ताह के दूसरे दिन मंगलवार को प्रशिक्षणार्थियों के मध्य विभिन्न बीमारियों की रोकथाम एवं स्वास्थ्य उन्नयन संबंधित पोस्टर -मॉडल प्रतियोगिता एवं हृदयाघात की स्थिति में दिये जाने वाले प्राथमिक उपचार सी.पी.आर (कार्डिओ पल्मोनरी रिससिटेश्‌न्‌) पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। कॉलेज के प्राचार्य और ए.एच.ए प्रशिक्षित सी.पी.आर ट्रेनर डॉ.पवन ओझा द्वारा 250 से अधिक प्रशिक्षणार्थियों को कार्डियक अरेस्ट के दौरान दिये जाने वाले प्राथमिक उपचार सी.पी.आर. प्रक्रिया की जानकारी दी गयी।उन्होंने बताया कि दिल का दौरा पड़ने पर पहला घंटा गोल्डन आवर माना जाता है। हार्ट अटैक आने के बाद पांच मिनट के अंदर सीपीआर शुरू कर देना चाहिए। सीपीआर असल में बेसिक लाइफ सपोर्ट का एक पार्ट है। ये हृदय और फेफड़ो को पूरी तरह जीवित रखने की प्रक्रिया है।सीपीआर के जरिए हम ऑक्सिजिनेटेड ब्लड (ऑक्सीजन ले जाने वाला रक्त) को ब्रेन की सेल्स तक पहुंचाते रहते हैं।

इससे ब्रेन सेल्स डेड नहीं होते। साथ ही हम हार्ट को वापस अपनी स्थिति में चलने के लिए स्टिमुलेट करते हैं। इससे हार्ट की पल्स जो काम करना छोड़ चुकी होती है, वापस स्टार्ट हो सकती है।इस समय मरीज को चेस्ट कम्प्रेशन देकर उसकी जान बचाई जा सकती है। हार्ट अटैक, कार्डियक अरेस्ट और रोड एक्सीडेंट के केस भी लगातार बढ़ रहे हैं। ऐसी कंडीशन में किसी को सीपीआर देने आता हो तो पेशेंट की जान बचाई जा सकती है।आज कल लोगों में अवेयरनेस नहीं होने के कारण एक्सीडेंट या कार्डियक अरेस्ट में फर्स्ट एड नहीं मिलने के कारण लोग जिंदगी से हाथ धो बैठते हैं। सी.पी.आर. इस स्थिति में संजीवनी का काम करता है। प्रथम दिवस पर आयोजित कार्यक्रम निबंध प्रतियोगिता में तनीषा परिहार प्रथम ,दक्ष सुंदेशा,केली चौधरी ने द्वितीय एवं गणपत कुमार ने तृतीय स्थान प्राप्त किया एवं वाद विवाद भाषण प्रतियोगिता में अनीता कुमारी और दक्ष सुंदेशा ने प्रथम,पल्लवी कुमारी,हर्षित दवे और कमलेश कुमार ने द्वितीय,सूरज कुमार,श्रेयांश ने क्रमशः तृतीय स्थान प्राप्त किया। इस दौरान नर्सिंग फैकल्टी मोहन सिंह गुर्जर,बाबूलाल चौधरी,राकेश टाँक,मनीष सोलंकी,मनोज दवे,किशोर परमार,भूपेन्द्र कुमार समेत कई संख्या में प्रशिक्षणार्थी मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

जालोर : मुस्लिम मुसाफिरखाना के पास टैंकर की चपेट में आने से ट्रक चालक की जान गई

ddtnews

सांथू : हाथों में मेहंदी रचाकर दिया संदेश “बालपन में विदाई, जीवन की बर्बादी”

ddtnews

कितना सफल हुआ है खुले में शौच से मुक्ति का अभियान?

ddtnews

जालोर : नाबालिग बेटी से दुष्कर्म के आरोपी पिता को आजीवन कारावास की सजा

ddtnews

Leave a Comment