DDT News
जालोर

राष्ट्रीय लोक अदालत में राजीनामे के योग्य 5 हजार प्रकरण चिन्हित

  • शनिवार को 9 बेंच में लगेगी लोक अदालत

जालोर. जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के अध्यक्ष एवं जिला न्यायाधीश हारून के निर्देशन में शनिवार को जिले के विभिन्न न्यायालयों में राष्ट्रीय लोक अदालत का आयोजन किया जएगा। लोक अदालत को लेकर तैयारियां पूरी की जा चुकी है। लोक अदालत को लेकर अब तक प्री लिटिगेशन एवं लंबित दोनों प्रकार के कुल 5 हजार 89 प्रकरण चिन्हित किए गए है। जिला मुख्यालय पर प्री लिटिगेशन के प्रकरणों एवं राजस्व के लिए अलग से बैंच बनाई गई है। जिसमें बैंक के वसूली प्रकरणों, बिजली, पानी के बिलों सहित अन्य प्रकरण रखे गए है। जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश विरेन्द्र कुमार मीणा ने बताया कि जिला मुख्यालय के साथ साथ तालुका भीनमाल, सांचौर, रानीवाड़ा व आहोर में स्थापित न्यायालयों में भी लोक अदालत आयोजित की जाएगी। लोक अदालत में पक्षकारों की आपसी सहमति से प्रकरणों का निस्तारण किया जाता है। उन्होंने बताया कि लोक अदालत को लेकर 9 बैंचों का गठन किया गया है। उन्होंने आमजन व पक्षकारों से अपील की है कि वे लोक अदालत में पहुंचकर अपने राजीनाम योग्य प्रकरणों में आपसी सहमति से राजीनामा कर प्रकरणों का निस्तारण करवाए। उन्होंने जिले के समस्त बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं को भी लोक अदालत में सकारात्मक सहयोग देकर प्रकरणों का निस्तारण करवाने की अपील की है।

यह है लोक अदालत का फायदा

लोक अदालत में दोनों पक्षों की आपसी सहमति से प्रकरण का निस्तारण किया जाता है, ऐसे में दोनों पक्षों की जीत होती है, प्रकरण का निस्तारण होने पर पक्षकारों को बार बार न्यायालयों में नहीं जाना पड़ेगा। लोक अदालत में प्रकरण का निस्तारण होने के बाद उसकी अपील नहीं होती है, अंतिम रूप से प्रकरण का निस्तारण हो जाता है।

Advertisement
यहां किया जा सकता है संपर्क

कोई भी पक्षकार जिनका न्यायालय में राजीनामा योग्य प्रकरण चल रहा है वे राष्ट्रीय लोक अदालत में अपना प्रकरण रखवा कर निस्तारण करवा सकते हैैं, इसके लिए पक्षकारों को जिस न्यायालय में मुकदमा चल रहा है वहां पर जाना होगा, या जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जालोर, तालुका मुख्यालय भीनमाल, सांचौर व रानीवाड़ा में भी संपर्क किया जा सकता है।

विज्ञापन
9 बैंचों का किया है गठन

लोक अदालत को लेकर 9 बैंचों का गठन किया गया है, जिला मुख्यालय पर जिला एवं सेशन न्यायालय, एमएसीटी, पारिवारिक न्यायालय, एडीजे जालोर, उपभोक्ता विवाद प्रतितोष आयोग व स्थाई लोक अदालत के प्रकरणों हेतु पारिवारिक न्यायालय की न्यायाधीश शैल कुमारी सोलंकी की अध्यक्षता में बैंच का गठन किया गया है, इसी प्रकार सीजेएम, एसीजेएम 1, एसीजेएम 2, जेएम जालोर के प्रकरणों के लिए हर्षिता राठौड़ जेएम जालोर की अध्यक्षता में, जिला विधिक सेवा प्राधिकरण जालोर, उपखंड क्षेत्र जालोर व सायला के राजस्व न्यायालयों के प्रकरणों के लिए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विरेन्द्र कुमार व उपखंड अधिकारी प्रमोद सीरवी की बैंच बनाई गई है। इसी प्रकार आहोर में एसीजेएम संख्या 1 जालोर चारण आशा की अध्यक्षता में बैंच बनाई गई है। भीनमाल में अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश भीनमाल, उपखंड भीनमाल, जसवंतपुरा क्षेत्र के समस्त राजस्व प्रकरणों के लिए अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश राजेन्द्र साहू व उपखंड अधिकारी पंकज शर्मा की बैंच, एसीजेएम कोर्ट भीनमाल, जेएम भीनमाल के प्रकरणों के लिए एसीजेएम बृजपादान चारण की अध्यक्षता में बैंच बनाई गई है। इसी प्रकार सांचौर में एडीजे कोर्ट सांचौर, सांचौर, चितलवाना, बागोडा उपखंड क्षेत्र के राजस्व न्यायालयों के प्रकरणों हेतु अपर जिला एवं सेशन न्यायाधीश ललित पुरोहित एवं उपखंड अधिकारी चितलवाना हनुमानाराम जाट की बैंच बनाई गई है। एसीजेएम कोर्ट, जेएम कोर्ट एवं ग्राम न्यायालय सांचौर के प्रकरणों हेतु हरीश कुमार एसीजेएम सांचौर की अध्यक्षता में एवं जेएम कोर्ट रानीवाड़ा एवं तालुका के प्री लिटिगेशन के प्रकरणों एवं रानीवाड़ा उपखंड के राजस्व न्यायालयों के प्रकरणों के निस्तारण के लिए पंकज सांखला न्यायिक मजिस्ट्रेट रानीवाड़ा एवं उपखंड अधिकारी भागीरथ राम को शामिल करते हुए बैंच का गठन किया गया है।

Advertisement

Related posts

अहमदाबाद रिंग रोड पर राजस्थानियों को परेशान न करें पुलिस – जालोर सांसद पटेल

ddtnews

नर्सें पूरी दुनिया में मानव जीवन को बचाने में सबसे महत्वपूर्ण योगदान देती है – सीएमएचओ भारती

ddtnews

अब जीवाणा में शुरू हुई स्पीडफोर्स की सेवाएं, दुपहिया वाहनों की हो सकेगी गुणवत्तापूर्ण मरम्मत

ddtnews

कुकिंग कन्वर्जन मानदेय व कार्यालय व्यय की राशि विद्यालयों के खातों में जमा

ddtnews

चार दिनों से भूखे 21 किसानों के बीच दूसरों ने खाई लापसी, लेटा महंत ने आकर अनशन तुड़वाया, धरना जारी

ddtnews

भीनमाल में उत्तराखंड के मुख्यमंत्री धामी बोले – राजस्थान के गौरवशाली इतिहास लिखने और पढ़ाने में देरी हुई

ddtnews

Leave a Comment