DDT News
जालोरराजनीति

सांसद पटेल ने की नितिन गडकरी से मुलाकात, संसदीय क्षेत्र में सड़क विकास कार्यों के बारे में की चर्चा

जालोर. जालोर सांसद देवजी एम. पटेल ने नई दिल्ली में सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान उन्होंने संसदीय क्षेत्र के एनएच-62 ब्यावर-पाली-पिण्डवाडा के जनापुर चैराहा पर अण्डर पास निर्माण, “इन प्रिंसिपल” घोषित राष्ट्रीय राजमार्ग जालौर-भीनमाल-करड़ा-सांचौर को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित कर निर्माण करवाने, एनएच-68 पर सांचोर शहर में एलिवेटेड रोड का निमार्ण करवाने, एनएच-68 गांधव ब्रिज से गुजरात बोर्डर व एनएच-68ए सांचौर से धानेरा क्षतिग्रस्त का निर्माण करवाने एवं मंडार-सिरोही स्टेट हाईवे की टोल अवधि नहीं बढ़ाकर नेशनल हाईवे में निर्माण के बारे में विस्तृत चर्चा की।

विज्ञापन

एनएच-62 के जनापुर चैराहा पर अण्डर पास निर्माण किया जायें – सांसद पटेल ने बताया कि संसदीय क्षेत्र से राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-62 गुजरता है। जिसमें जनापुर चैराहा पिण्डवाडा उपखंड मुख्यालय का प्रमुख चैराहा है। इस चैराहा पर यातायात का काफी भार रहता है, जहां दुर्घटनाएं दिनोंदिन बढ़ती जा रही है तथा उक्त चौराहा को ब्लैक स्पाॅट के रूप में भी चिंहित है। पूर्व में हुए हादसों से अनेकों लोगों को अपनी जान गवानी पड़ी है। इस चैराह पर अण्डर पास की अत्यन्त आवश्यकता है।

Advertisement
“इनप्रिन्सिपल” घोषित राष्ट्रीय राजमार्ग जालौर-भीनमाल-करड़ा-सांचौर को राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित कर निर्माण करवाया जायें

नितिन गडकरी से चर्चा के दौरान सांसद पटेल ने बताया कि संसदीय क्षेत्र की अतिमहत्वपूर्ण सड़क जालौर-रामसीन-भीनमाल-करड़ा-सांचौर को मेरी मांग पर आप द्वारा तुरन्त स्वीकृति प्रदान कर “इन प्रिंसिपल” घोषित किया एवं इस हेतु डी.पी.आर. बनाने का कार्यादेश जारी किया गया। उक्त सड़क मेरे संसदीय क्षैत्र के पिछड़े वर्ग को बेहतर कनेक्टीविटी देती है, अतः जनहित के इस विकास कार्य के लिए विभागीय अधिकारियों के साथ लगातार मोनिटरिंग की गई जिससे विभाग द्वारा इस सड़क की डी.पी.आर. भी तैयार कर ली गई एवं उक्त सड़क का 17 पोईन्ट अनुपालना सहित राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित करने का प्रस्ताव भी क्षैत्रीय अधिकारी, मोर्थ जयपुर के पत्र 01 मई 2018 को मंत्रालय में प्रेषित कर दिया गया। परन्तु इसे राष्ट्रीय राजमार्ग घोषित नहीं करने के कारण मेरे संसदीय क्षेत्र का यह महत्वाकांक्षी विकास कार्य अभी तक स्वीकृत नहीं हो पाया है।

विज्ञापन
एनएच-68 पर सांचोर शहर में एलिवेटेड रोड का निमार्ण किया जायें

सांसद पटेल ने सड़क परिवहन मंत्री को मुलाकात के दौरान बताया कि सांचौर शहर से होकर राष्ट्रीय राजमार्ग सं0 68 जो कि पंजाब बाडमेर सांचौर पालनपुर से होकर गुजर रहा है, सांचौर शहर में इस राष्ट्रीय राजमार्ग पर दो मुख्य सडक रानीवाडा-सांचौर मार्ग एवं अन्य मुख्य सडक क्राॅस कर रही है। जहां पर ये दोनों सड़कें राष्ट्रीय राजमार्ग को क्राॅस करती है, वहां पर भारी वाहनों एवं स्थानीय वाहनों का अत्यधिक दबाव रहता है। जिसके कारण अक्सर दुर्घटनाएं घटित होती रहती है, पिछले एक वर्ष में करीब 15 लोगों की मृत्यु हो चुकी है। ये दोनों सड़कें राष्ट्रीय राजमार्ग से सांचौर में प्रवेश करने के लिए मुख्य सड़क है। सांचौर शहर की आबादी राष्ट्रीय राजमार्ग सं-68 के दोनो तरफ बसी हुई है। उक्त ब्लैक स्पाॅट के स्थान पर जल्द एलिवेटेड रोड का निर्माण करवाया जायें।

Advertisement
एनएच-68 गांधव ब्रिज से गुजरात बॉर्डर एवं एनएच-68ए सांचौर से धानेरा सड़क क्षतिग्रस्त का निर्माण किया जायें

सांसद देवजी पटेल ने बताया कि जालोर जिले से राष्ट्रीय राजमार्ग-68 निकलता है। जो कांडला को पठानकोट से जोड़ता है। इस हाईवे की जालोर जिले में कुल लम्बाई 37.900 किमी है, जो बाड़मेर जिले के गांधव ब्रिज से गुजरात बोर्डर तक (259.300 किमी से 297.200 किमी) है। उक्त हाईवे सड़क निर्माण के लिए मंत्रालय द्वारा वित्तीय स्वीकृति प्रदान की गई। सड़क का निर्माण कार्य वर्तमान में लगभग पूर्णता की ओर है, जबकि सड़क निर्माण होते ही पहली बारिश में ही टूटनी शुरू हो गई है, जगह-जगह पर बड़े-बड़े खड्डे हो गये है। जिससे वाहन चालकों आवागमन असुविधा होती है। एनएच-68ए जो सांचौर से गुजरात राज्य के धानेरा, डीसा के जोड़ता है, जिसका एक साल पूर्व में नवीनीकरण किया गया था। वर्तमान में यह हाईवे जगह-जगह से क्षतिग्रस्त हो चुका है।

विज्ञापन

मंडार-सिरोही स्टेट हाईवे की टोल अवधि नहीं बढ़ाकर नेशनल हाईवे में निर्माण करवाया जायें सांसद पटेल ने मंत्री से चर्चा के दौरान बताया कि सिरोही जिले का मंडार-सिरोही स्टेट हाईवे अतिमहत्ववपूर्ण है। जो गुजरात प्रदेश के डीसा-धानेरा राष्ट्रीय राज्यमार्ग-168, झेरडा से सिरोही राज्यमार्ग वाया मंडार, रेवदर होते हुए, यह मार्ग राष्ट्रीय राजमार्ग-62 से मिल जाता है। इस मार्ग पर दिनोंदिन वाहनों का आवागमन बढ़ता जा रहा है। दोनों तरफ से यह सड़क राष्ट्रीय राजमार्ग से मिलने के कारण मालवाहक समेत भारी वाहनों का आवागमन बढ़ता जा रहा है। इस मार्ग पर मंडार और रेवदर दो घनी आबादी वाले शहर है। इन शहरों के पास दिन में ट्रेफिक जाम हो जाना अब आम बात हो गयी है। जिससे आम नागरिकों, स्कूल जाने वाले छात्रों और व्यापारियों को काफी परेशानियों का सामना करना पडता है। सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्रालय अधिसूचना 5 सितम्बर, 2014 के तहत यह सड़क राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या-168 में प्रस्तावित है। इस संबंध में जानकारी प्राप्त करने पर ज्ञात हुआ कि राज्य सरकार उक्त सड़क की टोल अवधि बार-बार बढ़ाकर रही है। इस प्रकार बार-बार टोल अवधि बढ़ाने से राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण नहीं किया जा रहा है। उन्होंने इस सड़क की टोल अवधि न बढ़ाकर मंत्रालय द्वारा राष्ट्रीय राजमार्ग में निर्माण करवाने का आग्रह किया।

Advertisement

Related posts

भाद्राजून जमीन विवाद मामले में जालोर शिवसेना ने एडीएम को सौंपा ज्ञापन

ddtnews

आहोर में बाजार से ब्रिज निकालने का व्यापारियों ने जताया विरोध, बोले – यातायात दबाव कम करने के लिए बायपास ही उचित व्यवस्था

ddtnews

1308 पेटी अनार बेचकर ट्रक को खुर्द-बुर्द करने के चार आरोपियों को गिरफ्तार किया, सवा 8 लाख रुपए बरामद किए

ddtnews

हैंडबॉल में धवला की छात्राओं ने सरत को हराया, छात्र वर्ग में धानपुरा जीता

ddtnews

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री आएंगे सुराणा

ddtnews

कुकिंग कन्वर्जन मानदेय व कार्यालय व्यय की राशि विद्यालयों के खातों में जमा

ddtnews

Leave a Comment