DDT News
जालोरबिपरजोय तूफानमौसम

जालोर : बिपरजॉय तूफान का कहर, तेज व बारिश से बोलेरो पलटी पांच घायल, कहीं पेड़ गिरे तो कहीं पोल, बारिश के साथ तेज हवा जारी

जालोर. अति प्रचंड बिपरजॉय तूफान देर रात को जालोर जिले की सीमा में प्रवेश करने के बाद शनिवार शाम को जालोर जिला मुख्यालय को पार कर गया, खुले इलाकों में तूफान ने कहर बरपाया।

तेज हवा व बारिश के कारण मेडा-छिपरवाड़ा रोड पर बोलेरो पलट गई। जिसमें पांच जने घायल हो गए। जानकारी के मुताबिक इसमें शिवसेना नेता करण सिंह थांवला, रविन्द्र सिंह थांवला, प्रताप सिंह थांवला, पुखराज मीणा व ओबा राम प्रजापत बोलेरो में सवार थे, गाड़ी पलटने से घायल हो गए।

Advertisement

चूंकि शुरुआती गति को देखते हुए मौसम विभाग ने बाड़मेर के साथ जालोर जिले को भी रेड जोन में शामिल किया था, लेकिन जालोर सीमा में पहुंचने के बाद तूफान की गति शनिवार को कुछ कम हो गई। जिस कारण बड़े नुकसान का आशंकित खतरा टल गया। हालांकि इस दौरान खुले इलाकों में तूफान से कई बड़े पेड़ और विद्युत पोल उखड़ गए। जिस कारण कई स्थानों पर रास्ते बाधित हुए, जिन्हें प्रशासनिक अधिकारियों ने तुरंत प्रभाव से दुरुस्त किया। जालोर जिला मुख्यालय पर तूफान का मुख्य प्रभाव दिन में करीब दो बजे हुए अचानक तेज हवा के साथ उमड़ घुमड़ कर आए बादलों ने एकबारगी ख़ौफ़ पैदा कर दिया, लेकिन बाद में बारिश की धीमी गति पड़ जाने से असर ज्यादा नहीं हुआ। बीच बीच में घुमावदार हवा के जोर ने कई स्थानों पर पेड़ गिरा दिए। देर शाम को करीब छह बजे समाचार लिखे जाने तक हल्की बारिश के साथ हवा चलती रही।

बंद सरकारी बंगले के बाहर गिरा बड़ा पेड़

जिला मुख्यालय पर सीएमएचओ आवास के बाहर तेज हवा के कारण बड़ा पेड़ मुख्य द्वार पर गिर पड़ा। हालांकि इस मकान में कोई आवासरत नहीं था, जिस कारण कोई हानि नहीं हुई। इसी प्रकार पुलिस लाइन के बाहर बड़ा लोहे का होर्डिंग गिर पड़ा। इसी प्रकार सिनेमाहॉल के नीचे एक दुकान का शटर हवा का झोंका नहीं झेल पाया। हवा के कारण शटर जॉइंट से उखड़ गया। इसके अलावा भी कई स्थानों पर पेड़ गिरने की घटनाएं सामने आई है।

Advertisement
बारिश में भी काम में लगे रहे सफाईकर्मी

जिला मुख्यालय पर ड्रेनेज व्यवस्था शुरू से ही गड़बड़ाई हुई है। जिस कारण हल्की बारिश में भी यहां सड़कों पर पानी जमा हो जाता है। कलेक्ट्रेट के सामने, नए बस स्टैंड के सामने व हेड पोस्ट ऑफिस रोड के नजारे नगरपरिषद की दुर्गति बयां कर देती है। इसके बावजूद बारिश के दौरान सफाई कर्मी अपने काम मे लगे हुए दिखे। जिला शिक्षा अधिकारी कार्यालय के समीप एक नाले की सफाई बारिश के दौरान जारी रही।

विज्ञापन
रात को सांचौर व रानीवाड़ा में मचाई तबाही

बीती देर रात को जालोर जिले की सीमा में प्रवेश के दौरान सांचौर व रानीवाड़ा क्षेत्र में तूफान ने तबाही मचाई। तूफान ने कई स्थानों पर पेड़, विद्युत ट्रांसफॉर्मर व पोल गिरा दिए। इस कारण कई रास्ते बाधित हो गए। सुबह चितलवाना उपखण्ड अधिकारी हनुमानराम व रानीवाड़ा एसडीओ स्वयं पेड़ों की डालियां सड़कों से हटा कर रास्ता दुरुस्त करते देखे गए।

Advertisement
विज्ञापन

Related posts

शुद्ध के लिए युद्ध अभियान के तहत लिए खाद्य पदार्थों के लिए सैंपल

ddtnews

वाह री भाद्राजून पुलिस …. मरहम पट्टी के नाम बुलाकर हाथ-पैर तोड़े और सिर फोड़ा, दस दिन बाद तक एक भी गिरफ्तार नहीं

ddtnews

डॉटर्स डे पर रोटरी क्लब ने फीमेल ई-लिटरेसी सेंटर के पहले बेच की शुरुआत की

ddtnews

वंश सुथार समाज महासभा की बैठक में विभिन्न विषयों पर हुई चर्चा, आगामी बैठक का बागरा में होगा आयोजन

ddtnews

राजीव गांधी ग्रामीण व शहरी ओलंपिक खेलों का उद्घाटन सोमवार 10 जुलाई को

ddtnews

प्रतिनिधिमंडल के साथ श्रम मंत्री विश्नोई जाएंगे गुजरात, गुजरात नर्मदा के मुख्य अभियंता से मांगेंगे पर्याप्त पानी

ddtnews

Leave a Comment