DDT News
जालोरराजनीति

नेहड़ क्षेत्र में पेयजल के लिए हजार रुपए देने को मजबूर आमजन, सरकार योजना बनाने में नाकाम – भाजपा जिलाध्यक्ष राव

  • भाजपा जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव ने कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, नहरों की सफाई की रखी मांग
  • किसानों के अधिकारों को लेकर धरने की दी चेतवानी

जालोर. भारतीय जनता पार्टी के जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव ने सोमवार को जालोर जिला कलेक्टर, सांचौर विशेषाधिकारी एवं नर्मदा नहर परियोजना के मुख्य अभियंता को ज्ञापन सौंपकर, पेयजल तथा किसानों की समस्याओं से अवगत कराया। उन्होंने ज्ञापन में नर्मदा नहर की सफाई एवं जिले में पेयजल की किल्लत पर प्रशासन को चेताया। उन्होंने बताया कि भीषण गर्मी में सरकार को जहां राहत उपलब्ध करवाने की आवश्यकता हैं, वहीं प्रशासन की लापरवाही के कारण क्षेत्र की जनता को पीने हेतु पानी उपलब्ध नहीं हो रहा हैं। शहरों में जहां 7 से 8 दिन के बाद पानी उपलब्ध करवाया जाता हैं वहीं नेहड क्षेत्र के गांवों में स्थिति और अधिक खराब हैं।

मुख्य शहरों में भी पानी आपूर्ति बनी समस्या

Advertisement

नव गठित जिला मुख्याल सांचोर में भी पेयजल आपूर्ति पूर्ण रूप से बाधित हैं, जहां 7 दिन में पानी उपलब्ध होता हैं, वो भी पानी उपयोग योग्य नहीं हैं। पिछले 4 वर्ष से शुद्ध पेयजल की मांग को लेकर संघर्ष कर रहे भीनमाल शहर को भी अभी तक शुद्ध पानी के स्थान पर मटमेला पानी उपलब्ध हो रहा है। जालोर शहर में भी पानी को लेकर भारी किल्लत हैं, जिसका समाधान अभी तक नहीं हो रहा हैं।

नेहड़ क्षेत्र में पानी के लिए देने पड़ते हैं हजार रुपए

Advertisement

मुख्य शहरों सहित सांचौर उपखंड क्षेत्र के गांवों में पानी मिलना बड़ी बात हो गई। जीवन का आधार कहे जाने वाले पानी को पाने के लिए हजार रुपए तक पैसे देने पड़ रहे हैं। नेहड़ क्षेत्र में पानी की उपलब्धता के लिए 30 किलोमीटर का सफर कर पानी आपूर्ति पूरी की जाती हैं, लेकिन सरकार और प्रशासन द्वारा इसके लिए कोई विशेष योजना नहीं चलाई जा रही हैं।

विज्ञापन

सफाई के अभाव में हो रहा किसानों को नुकसान

Advertisement

नर्मदा नहर की सफाई के विषय को लेकर जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव ने प्रशासन और शासन को घेरते हुए बताया कि पिछले क्लोजर में नहरों की सफाई का कार्य पूर्ण होना चाहिए था, लेकिन प्रशासन की नींद नहीं खुल रही हैं। रबी की फसलों का उत्पादन प्रभावित हुआ और किसानों को आर्थिक नुकसान झेलना पड़ा। 15 जून से शुरू हो रहे दूसरे क्लोजर की भी कोई योजना नहीं बनाई गई हैं, जिससे प्रशासन की मानसिकता का अनुमान लगाया जा सकता हैं।

विज्ञापन

Advertisement

Related posts

प्रधानमंत्री मोदी के जन्मदिन पर जिलेभर में हुआ रक्तदान

ddtnews

जालोर लोकसभा सीट पर वैभव की राजनीति जमीन तैयार करने घरानों के चक्कर लगा रहे राठौड़, सर्वे की सूची में गहलोत और गजेंद्रसिंह के नाम से बढ़ा असमंजस

ddtnews

सर्वसम्मति से भंवरसिंह बालावत जालोर सरपंच संघ के जिलाध्यक्ष निर्वाचित, चारण बने प्रदेश प्रतिनिधि

ddtnews

कोर्ट केस के वजह से केबिनेट मंत्री बनने से चूके जालोर विधायक जोगेश्वर गर्ग को सरकार ने मुख्य सचेतक बनाकर किया खुश

ddtnews

हनीफ के लिए वरदान बनी मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना

ddtnews

Leave a Comment