DDT News
आहोरजालोरराजनीति

आहोर नगरपालिका की अधिसूचना जारी होने के साथ ही अब जालोर के पांचों विधानसभा मुख्यालय ‘शहर’ बने

  • गहलोत सरकार ने इस कार्यकाल में रानीवाड़ा व आहोर को भी दिया शहर का दर्जा

जालोर. प्रदेश में जालोर जिला भी अब उन जिलों की श्रेणी में शामिल हो चुका है, जिनके सभी विधानसभा क्षेत्रों के मुख्यालय शहर का दर्जा प्राप्त कर चुके है। दरअसल, जालोर जिले में पांचों (नव गठित सांचौर जिला शामिल) विधानसभा क्षेत्रों के मुख्यालय निकाय बनाये जा चुके है। इस वर्ष बजट घोषणा के बाद बुधवार 31 मई को आहोर नगरपालिका की अधिसूचना जारी कर दी गई है। इससे पहले जालोर को नगरपरिषद, सांचौर व भीनमाल मुख्यालय को नगरपालिका बनाया हुआ था। इस सरकार ने बीते वर्ष रानीवाड़ा व इस वर्ष आहोर को नगरपालिका बनाकर पांचों मुख्यालयों को निकाय की श्रेणी में डाल दिया। अब आहोर नगर के विकास को लेकर सरकार भी अपना हिस्सा समय- समय पर जारी कर सकेगी।

विज्ञापन
विज्ञापन
पूरी आहोर पंचायत को बनाया नगरपालिका

स्वायत शासन विभाग के निदेशक एवं विशिष्ठ सचिव इंद्रेश कुमार शर्मा ने बुधवार को आहोर नगरपालिका की अधिसूचना जारी की है। इसमें आहोर नगरपालिका में ग्राम पंचायत आहोर के सम्पूर्ण क्षेत्र में आने वाले राजस्व गांव आहोर के सीमा क्षेत्र को सम्मिलित करते हुए वर्ष 2011 की जनगणना 16 हजार 867 के अनुसार निकाय क्षेत्र का गठन करने की अधिसूचना जारी की है। बजट घोषणा आहोर नगरपालिका की सरकार ने घोषणा की थी, लेकिन 3 जून को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के जालोर दौरे को लेकर 31 मई को अधिसूचना जारी की गई है। ताकि कोई कार्य अधूरा न रहे। आपको बता दें कि 30 वर्ष पहले आहोर नगरपालिका थी, लेकिन बाद में हुए परिसीमन में उसका दर्जा समाप्त कर दिया गया था। जिस कारण आहोर अब वापस नगरपालिका बनाई गई है। अधिसूचना जारी होने के साथ ही सरपंच, उपसरपंच व वार्ड सदस्य अब पालिकाध्यक्ष, उपाध्यक्ष व पार्षद के पदनाम से जाने जाएंगे।

Advertisement
कांग्रेस का गढ़ रही आहोर सीट को वापस पाने की जुगत

दरअसल आहोर विधानसभा सीट एक समय कांग्रेस की गढ़ मानी जाती थी, लेकिन पिछले बीस वर्षों में यहां भाजपा ने मजबूत स्थिति बना ली है। कांग्रेस इसका तोड़ नहीं ढूंढ पा रही है। पिछले चार विधानसभा चुनावों में से तीन बार बीजेपी जीत चुकी है। साथ ही पंचायत राज चुनावों में भी कांग्रेस को पटखनी दे चुकी है। इस लिहाज से कांग्रेस इस सीट को वापस पाने की जुगत में लगी हुई है। इस सरकार के कार्यकाल में आहोर मुख्यालय को निकाय बनाने के साथ साथ यहां डीएसपी कार्यालय भी खुलवाया है। ताकि पार्टी के प्रति जन मानस में प्रभाव बढ़ सके।

इनका कहना है…

जब जब कांग्रेस सरकार बनी है, विकास कार्य ही ध्येय रखा है। इस बार प्रदेश सरकार ने आहोर को कई सौगात दी है, आहोर को नगरपालिका बनाने से इस नगर का अतिरिक्त राजस्व बढ़ेगा। साथ ही सरकार भी समय समय पर बजट जारी करेगी। जिससे यहां विकास को बढ़ावा मिलेगा। अब आहोर एक शहर की तरह आगे बढ़ेगा। इससे लोगों को कार्य करवाने में कई सहूलियत रहेगी।

Advertisement
  • सरोज चौधरी, कांग्रेस नेता
विज्ञापन
विज्ञापन

कांग्रेस सरकार ने कई प्रकार की सौगातें दी है। आहोर को शहर का दर्जा मिलने से यहां विकास को गति मिलेगी। यहां मूलभूत आवश्यकताओं की पूर्ति करने में आसानी रहेगी।

  • वीरेंद्र जोशी, ब्लॉक अध्यक्ष कांग्रेस, आहोर

Advertisement

Related posts

राज्य स्तरीय राजीव गांधी ग्रामीण ओलम्पिक प्रतियोगिता 16 अक्टूबर से आयोजित

ddtnews

निवेशकों की कमाई नहीं लौटाने के लिए कॉपरेटिव सोसायटियों के विरूद्ध ईस्तागासा दायर करने के लिए परिवादी सहकार पोर्टल पर दर्ज करावें परिवाद

ddtnews

राष्ट्रीय डेंगू दिवस पर जागरूकता प्रचार वाहन को दिखाई हरी झंडी

ddtnews

आमजन की समस्याओं का त्वरित निस्तारण कर उन्हें राहत प्रदान करें- पुखराज पाराशर

ddtnews

गहलोत सरकार में बिजली समस्या को लेकर गिड़गिड़ा रहे कांग्रेसी… इधर, लघु उद्योग भारती के बैनर तले ज्ञापन देने आए ग्रेनाइट उद्यमियों को कलेक्टर ने फटकारा

ddtnews

बागरा में महंगाई राहत शिविर आयोजित, लाभार्थियों को दी जानकारी

ddtnews

Leave a Comment