DDT News
जालोरसामाजिक गतिविधि

रामसीन में पेयजल सप्लाई नहीं होने से परेशान ग्रामीण, अधिकारी बोले-थूर में लाइट की कटौती से दिक्कत

रामसीन (जालोर). जिले के रामसीन कस्बे में पिछले लम्बे समय से पेयजल सप्लाई नहीं होने से ग्रामीणों को पेयजल किल्लत का सामना करना पड़ रहा है। जलदाय विभाग के अधिकारियों की अनदेखी के चलते कस्बे के ग्रामीणों को पेयजल नसीब नहीं हो रहा है। कॉलोनियों में करीब पांच दिन गुजर जाने के बाद भी पेयजल की सप्लाई नहीं होने से स्थानीय लोगों को इस गर्मी में दुगुने पैसे देकर पानी के टैंकर डलवाने पड़ रहें है।

विज्ञापन
विज्ञापन

विभाग के अधिकारियों से बात करने पर एक ही रटा रटाया जवाब बिजली गुल होना या लीकेज का हवाला दिया जाता है। जबकि विभाग के इस कार्य के लिए ठेकदार और तकनीकी टीम की जिम्मेदारी दी गई। ऐसे में इस गर्मी के दौर में समय पर ठीक करना तो दूर उल्टा करीब 7 से 10 दिन तक भी पेयजल सप्लाई सूचारु रुप से कार्य करवाने में विफल है। इसके चलते कई परिवारों के लिए इस गर्मी के दौर में पेयजल के लिए अतिरिक्त स्रोत नहीं होने से खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने बताया कि उन्होंने कई बार जलदाय विभाग के सहायक अभियंता से मिलकर समस्या बताई है, लेकिन कोई ठोस कार्रवाई नहीं हो सकी। पीने के लिए पानी के टैंकर डलवाने पड़ते है, पानी की आपूर्ति कम होने के कारण पशुओं के लिए भी पानी की पूरी व्यवस्था नहीं हो पाती। महीने में कई बार तो पीने के लिए पानी के टैंकर डलवाने पड़ते हैं।

Advertisement

कस्बे में स्थिम हैंडपंप सहित कुओं व सार्वजनिक टंकी पर महिलाएं पानी भरने के लिए लंबी-लंबी लाइनों में लगी हुई हैं।पिछले कई वर्षों से पानी की समस्या को लेकर अपनी ही बदहाली पर आंसू बहा रहे हैं. कोई सुध नहीं लेता। ऐसे में अब हालात भगवान भरोसे ही है।

इनका कहना है…

गर्मी के दौर के साथ ही पेयजल की सप्लाई डगमगा जाती है। विभाग हमेशा किसी मोटर की खराबी या पाइप लाइन लीकेज होने के बारे में बताते है, लेकिन इस कार्य के लिए ठेकेदार जिम्मेदार है। ऐसे में समय पर कार्य नहीं होने पर ठेकेदार के विरुद्ध कारवाई होनी चाहिए। पेयजल आपूर्ति नहीं होने से महंगे दामों में टैंकर डलवाने पड़ रहें है।

Advertisement

– वागाराम परमार, ग्रामीण

विज्ञापन
विज्ञापन

अभी हम विभाग की ओर से अपना पूरा प्रयास कर रहे है कि समय पर पेयजल सप्लाई हो सके। पिछले कुछ दिनों से मुख्य थूर गांव के बूस्टर पर लाइटें गुल होने की समस्या बनी हुई है।

Advertisement

– राजकुमार खत्री, कनिष्ठ अभियंता, जलदाय विभाग रामसीन

Advertisement

Related posts

कालजयी कविता में इतिहास की धारा बदलने की क्षमता – जगदीश मित्तल

ddtnews

ओलम्पिक खेलों के मशाल यात्रा रथ एवं कला जत्था का मुख्यालय पर भव्य स्वागत

ddtnews

ट्रांसफॉर्मर बदलने की एवज में सांकड़ का जेईएन 4 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

ddtnews

सेंट राजेश्वर स्कूल में अब कथक नृत्य का दस दिवसीय प्रशिक्षण

ddtnews

पादरली प्रकरण : पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर हथियार बरामद किया, शांति व्यवस्था के लिए इंटरनेट बंद

ddtnews

जालोर में सरकारी धन की लूट मची है, समय आएगा तब हम जांच करवाएंगे – राठौड़

ddtnews

Leave a Comment