DDT News
जालोर

रियल स्टेट ब्रोकर एसोसिएशन ने सौपा ज्ञापन

जालोर. मंत्रालय कर्मचारियों की जायज मांगे माने जाने व प्रदेश में बंद पंजीयन के कार्य को शुरू करवाने की मांग को लेकर जोधपुर रियल एस्टेट ब्रोकर एसोसिएशन ने शुक्रवार को मुख्यमंत्री के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में बताया कि मंत्रालयिक कर्मचारी अपनी मांगों को लेकर पिछले काफी समय से हड़ताल पर है। ऐसे में पंजीयन आदि के कार्य बंद पड़े हैं। राज्य की आय में अहम योगदान रियल स्टेट क्षेत्र का है जिसमें पंजीयन का मुख्य कार्य है। जिससे प्रतिदिन करोड़ों रुपयों की आय राज्य सरकार को होती है।

विज्ञापन
विज्ञापन

वर्तमान में मंत्रालय कर्मचारियों की शिप्रा पथ जयपुर में चल रहे महापड़ाव में 50 विभागों के मंत्रालयिक कर्मचारियों, राजस्व एवं पंजीयन के कर्मचारियों द्वारा भाग लिए जाने से जिले में पहचान दस्तावेज, पंजीयन एवं अन्य पंजीयन के कार्य के साथ साथ राजस्व विभाग के जन्म मृत्यु प्रमाण पत्र, जाति प्रमाण पत्र, भु  संपरिवर्तन, भू आवंटन आदि कार्य पूर्ण रूप से बंद है। जिससे रियल स्टेट के ब्रोकर्स को काफी नुकसान हो रहा है। वही अन्य प्रदेश से लोग पंजीयन करवाने यहां आते हैं उन्हें वापस जाना पड़ रहा है। जिससे उनका समय और धन दोनों का नुकसान हो रहा है। इस व्यापार से जुड़ी अधिवक्ताओं, स्टांप वेंडर, किसान, ठेकेदार के साथ-साथ राज्य सरकार को भी काफी नुकसान हो रहा है।

Advertisement
विज्ञापन
विज्ञापन

रियल एस्टेट ब्रोकर ने ज्ञापन देकर राज्य सरकार की रीड की हड्डी कहे जाने वाले मंत्रालयिक कर्मचारियों की जायज मांगों को मानने की मांग की है। ताकि पूर्व की तरह पंजीयन का कार्य अन्य राजस्व विभाग के कार्य शुरू हो सके। इस दौरान एसोसिएशन के अध्यक्ष लाल सिंह राजपुरोहित, गणपत सिंह धानपुर, हनवंत सिंह मोतीसरी, दिनेश प्रजापत, डॉ ओमप्रकाश रायथल, ओमप्रकाश मेघवाल, अर्जुन राम चौधरी, अंजू माली महिला मोर्चा भाजपा, प्रेमाराम माली, रतनसिंह मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

राज्य सरकार फ्लैगशिप योजनाओं की क्रियान्विति के लिए संवेदनशील – महेन्द्र चौधरी

ddtnews

अभिभावक व अध्यापक के बीच व्यवस्थित तालमेल से बच्चों का सर्वांगीण विकास सम्भव – ठाकुर

ddtnews

बागरा : तीन दिनों से बिजली गुल, टेंशन फूल 

ddtnews

अपराध नियंत्रण में सहयोग बनाए रखने का आव्हान

ddtnews

सीएमएचओ ने रामसीन सीएचसी का किया निरीक्षण, अनियमितता पाये जाने पर व्यवस्था में सुधार करने के दिए निर्देश

ddtnews

कोटा का मेडिकल कॉलेज कोविड फ्री: दो साल बाद मेडिकल कॉलेज में एक भी मरीज नहीं, एहतियात के तौर पर एक महीना चालू रखा जाएगा वार्ड

Admin

Leave a Comment