DDT News
जालोर

जमीन के रुपए एंठने को लेकर धोखाधड़ी का मामला दर्ज

  • रजिस्ट्री करवाने से पूर्व नीयत हुई खराब

जालोर. जमीन की रजिस्ट्री करवाने के बाद रुपए एंठने को लेकर पीड़ित ने सायला पुलिस थाने में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया है। प्रकरण के अनुसार अभिजीत सुथार पुत्र बंशीलाल सुथार निवासी सायला ने रिपोर्ट पेश कर बताया कि वह जमीनी खरीद का काम करता है। इस सिलसिले में उनके परिचित खेताराम पुत्र चंपालाल पुरोहित निवासी रेवतड़ा तहसील सायला ने बताया कि महेन्द्रसिंह पुत्र वरदसिंह निवासी सायला अपनी जमीन बेचना चाहता है। बाद में जब खेताराम के साथ महेंद्रसिंह से संपर्क किया तो उसने भी अपनी जमीन बेचने की हामी भरी तथा हमारे बीच सौदा तय हुआ।  उक्त सौदे के तहत महेन्द्रसिंह ने सरहद मौजा सायला चैक नंबर 2 के खसरा नम्बर 2225 एवं 2278 में स्थित आराजी में से उसके स्वयं के 1/16 में हिस्से की एक पॉवर ऑफ अटोनी 17 सितंबर 2022 को उसे दी थी। उक्त पॉवर ऑफ अटोनी नोटेरी पब्लिक, सायला से तस्दीक भी कर दी। उक्त पॉवर ऑफ अटोनी के आधार पर उसने 19 सितंबर 2022 को उक्त जमीन की रजिस्ट्री दिनेश कुमार सुथार पुत्र भंवरलाल सुथार निवासी मानपुरा कॉलोनी, जालोर के नाम करवा दी। अभिजीत ने बताया कि महेन्द्रसिंह को जमीन की रकम उसने बिचोलिया खेताराम के माध्यम से दी।

विज्ञापन
विज्ञापन
रजिस्ट्री से पहले नीयत हुई खराब

पीडि़त अभिजीत ने बताया कि रजिस्ट्री करवाने से पूर्व महेन्द्रसिंह की नीयत खराब हो गई। उसने पहले तो फर्जी हस्ताक्षरों से पॉवर ऑफ अटोनी निरस्त करने के लिए एक प्रार्थना पत्र सब रजिस्ट्रार सायला को भिजवाया, जबकि महेन्द्रसिंह को उसकी जमीन बेचने के बदले पूरी रकम खेताराम के माध्यम से मिल चुकी थी और रकम हड़पने और झूठे मुकदमों में फंसाकर और रुपए एंठने की नीयत से उसने उन्हें ब्लेकमेल करना शुरू कर दिया। उसने कहा कि विक्रमसिंह राव नाम का एक व्यक्ति इसी जमीन के करोड़ों रुपए दिलवा रहा है, इसलिये या तो एक करोड़ रुपए दें या फिर जमीन वापस दे दो। अभिजीत ने बताया कि उसने उक्त जमीन दिनेश कुमार सुथार को बेच दी थी, लिहाजा जमीन वापस देना और पैसे देना दोनों ही संभव नहीं था। इस कारण उसने साफ मना कर दिया।

Advertisement
विज्ञापन
जिस मामले में बिचोलिए को फंसाया, उसमें खुद भी फंसा

इस पर महेन्द्रसिंह और उसके साथियों ने योजना बनाकर खेताराम को एनडीपीएस के मुकदमे में फंसा दिया, लेकिन बाद में वह खुद ही अपने जाल में फंस गया और पुलिस ने उसे भी एनडीपीएस के प्रकरण में गिरफ्तार कर लिया। ऐसे में मुझ पर दबाव बनाकर रुपए एंठने के लिए महेंद्रसिंह ने 13 फरवरी 2023 को जेल से ही दिनेश कुमार सुथार के नाम उक्त सेल डीड को निरस्त करने लिए एक सिविल दावा न्यायालय जालोर में पेश कर दिया, जिसमें महेन्द्रसिंह को अभी तक कोई राहत नहीं मिली है। इसके अगले ही दिन 14 फरवरी 2023 को उसने खरीददार दिनेश कुमार सुथार और तहसीलदार सायला के खिलाफ कोर्ट में इस्तगासे के माध्यम से मामला दर्ज करवाया। उक्त सिविल सूट और एफआईआर महेन्द्रसिंह ने अपनी पत्नी जनता कंवर, साले सुरेन्द्रसिंह एवं विक्रमसिंह राव निवासी जालोर के साथ मिलीभगत कर और षडय़ंत्र रचकर मामला दर्ज करवाया। अभिजीत ने बताया कि 1 मार्च को विक्रमसिंह राव नामक व्यक्ति ने तहसील परिसर में उन्हें धमकाकर 1 करोड़ रुपए देने या जमीन वापस उनके नाम करवाने की मांग को लेकर भारी कीमत चुकाने की धमकी भी दी। इसके बाद से अलग-अलग व्यक्तियों से उन्हें फोन पर धमकियां भी मिल रही है। पुलिस ने उक्त मामला दर्ज कर अनुसंधान शुरू कर दिया है।

Advertisement

Related posts

कांग्रेस नगराध्यक्ष भुट्टो ने जलदाय विभाग के अधिकारियों पर लगाये गम्भीर आरोप, कलेक्टर को शिकायत की

ddtnews

भीनमाल में कौशल, रोजगार, उद्यमिता एवं मार्गदर्शन शिविर आयोजित

ddtnews

सिलासन में भाजपा की जिला कार्यसमिति की बैठक 21 को, प्रदेश मंत्री श्रवणसिंह बगड़ी करेंगे शिरकत

ddtnews

अनार की उन्नत खेती पर किसानों को दी जानकारी

ddtnews

आत्मरक्षा केंद्र की युविका चौधरी ने करनाल व मुजफ्फरनगर में फहराया जालोर का परचम

ddtnews

एक जनवरी से पहले भीनमाल शहर को नर्मदा का मिलेगा पानी

ddtnews

Leave a Comment